मध्य प्रदेश फसल गिरदावरी रिपोर्ट 2022-23: ऑनलाइन देखे : Fasal Girdawari डाउनलोड करे

Fasal Girdawari Report MP 2021 Download App | Madhya Pradesh Fasal Girdawari Report Online | मध्य प्रदेश फसल गिरदावरी रिपोर्ट ऑनलाइन देखे | मध्य प्रदेश फसल गिरदावरी रिपोर्ट डाउनलोड | MP Fasal Girdawari Report Download

हमारे देश के किसानो को पहले अपनी बोई गई फसल की जानकारी दर्ज करवाने एवं गिरदावरी रिपोर्ट देखने के लिए पहले राज्य के किसानो को अपने तहसील के पटवारी की सहयता लेनी पड़ती थी। जिसके कारण उन्हें कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता था। इन सब परेशानियों को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा मध्य प्रदेश फसल गिरदावरी रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया ऑनलाइन जारी कर दी गई है। मध्य प्रदेश के किसानो को अब अपनी Fasal Girdawari रिपोर्ट देखने के लिए किसी भी सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। एमपी फसल गिरदावरी रिपोर्ट एप के माध्यम से आसानी से देखी जा सकती है। आपको हम अपने इस लेख के माध्यम से Madhya Pradesh fasal girdawari report से संबंधित पूरा ब्यौरा प्रदान करने जा रहे है। आपको हमारे इस लेख को पढ़कर इस योजना का उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, फसल गिरदावरी रिपोर्ट डाउनलोड करने की प्रक्रिया आदि से जुडी जानकारी प्रदान करने जा रहे है। अतः आप हमारे इस लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़े।

Madhya Pradesh Fasal Girdawari Report 2022

किसान को अपनी फसल गिरदावरी के माध्यम से बोई गई फसल से जुडी जानकारी सरकार को उपलब्ध करवाई जाती है। यह Fasal Girdawari Report आवेदक किसानो को प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले नुकसान की भरपाई फसल बीमा, बैंक ऋण आदि का लाभ प्राप्त करने के लिए जरुरी है। किसान अपनी फसल से संबंधित जानकारी दर्ज करवाने के लिए पटवारी की सहयता लेनी पड़ती है। मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा यह पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन जारी कर दी गई है। स्मार्ट एप्लीकेशन फॉर रिवेन्यू एडमिनिस्ट्रेशन की आधिकारिक वेबसाइट एवं एप के माध्यम से बोई गई फसल की जानकारी दर्ज की जा सकती है। किसान के द्वारा अपनी गिरदावरी रिपोर्ट को डाउनलोड किया जा सकता है। देश के किसान इस एप को अपने मोबाइल फ़ोन के गूगल प्लेस्टोरे से भी डाउनलोड कर सकते है।

इस एप के माध्यम से फसलों की जानकारी से संबंधित कोई भी समस्या होने पर शिकायत भी दर्ज करवा सकते है। इस एप के माध्यम से किसानो के समय एवं पैसे दोनों की बचत होगी और इसी के साथ प्रणाली में पारदर्शिता सुनिश्चित की जा सकती है।

मध्य प्रदेश फसल गिरदावरी रिपोर्ट का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य कृषि भूमि का डाटा प्रशासन को पारदर्शी तरीको से उपलब्ध करवाना है। किसानो के द्वारा खुद अपनी फसल की बोई का डाटा ऑनलाइन अपलोड किया जा सकता है। किसानो को यह डाटा अब सरकार तक पहुंचाने के लिए पटवारी के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। इसी के साथ प्रदेश के किसान अपनी Fasal Girdawari Report को भी ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते है। किसान को यह रिपोर्ट डाउनलोड करने के लिए किसी भी सरकारी कार्यालय दफ्तर के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। इससे किसानो के समय एवं पैसे दोनों की बचत होगी तथा प्रणाली में पारदर्शिता आएगी।

Key Highlights Of Madhya Pradesh Fasal Girdawari Report

आर्टिकल का नाम मध्य प्रदेश फसल गिरदावरी रिपोर्ट
किसके द्वारा शुरु की गई मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा
लाभार्थी एमपी के सभी किसान
मुख्य उदेश्य फसल की जानकारी दर्ज करने की सुविधा एवं गिरदावरी रिपोर्ट ऑनलाइन डाउनलोड करने की सुविधा उपलब्ध करवाना।
ऑफिसियल वेबसाइट यहां क्लिक करें
वर्ष 2021
ऑनलाइन आवेदन प्रकार ऑनलाइन
कौनसा राज्य मध्य प्रदेश
मध्य प्रदेश फसल गिरदावरी रिपोर्ट के लाभ तथा विशेषताएं
  • फसल गिरदावरी एक प्रक्रिया है जिसके माद्यम से किसानो द्वारा बोई गई फसल से जुडी जानकारी सरकार को उपलब्ध करवाई जाएगी।
  • इस फसल गिरदावरी आवेदक किसान को प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले नुकसान की भरपाई फसल बीमा, बैंक ऋण आदि का लाभ प्राप्त करने के लिए जरुरी है।
  • अपनी फसल से संबंधित जानकारी दर्ज करवाने के लिए पहले किसानो को अपनी तहसील के पटवारी के चक्कर काटने पढ़ते थे।
  • एमपी सरकार के द्वारा फसल गिरदावरी की प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन शुरु कर दी गई है।
  • किसान इस स्मार्ट एप्लीकेशन फॉर रिवेन्यू एडमिनिस्ट्रेशन की आधिकारिक वेबसाइट एवं इस एप के माध्यम से बोई गई फसल की जानकारी ऑनलाइन दर्ज कर सकते है साथ ही अपनी  फसल गिरदावरी रिपोर्ट को ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते है।
  • इस एप को किसान अपने मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते है।
  • अगर किसान को अपनी फसल से जुडी किसी प्रकार की समस्य का सामना करना पड़ता है तो इस स्थिति में इस एप के माध्यम से शिकायत भी दर्ज कर सकते है।
  • इससे किसानो के समय एवं पैसे की बचत होगी और साथ ही तथा प्रणाली में पारदर्शिता आएगी।
एमपी फसल गिरदावरी रिपोर्ट की पात्रता तथा महत्वपूर्ण दस्तावेज
  • आवेदक मध्य प्रदेश का निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को किसान होना आवश्यक है।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाणपत्र
  • आयु प्रमाणपत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • ईमेल आईडीई
  • मोबाइल नंबर
मध्य प्रदेश फसल गिरदावरी रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया
  • आवेदक को सबसे पहले स्मार्ट एप्लीकेशन फॉर रिवेन्यू एडमिनिस्ट्रेशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

mp-kisan-fasal-girdawari-yojana-768x374

  • इसके पश्चात आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको फसल गिरदावरी के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके पश्चात आपको विजिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

mp-fasal-girdawari-report-768x329

लॉगिन करने की प्रक्रिया
  • आवेदक को सबसे पहले स्मार्ट एप्लीकेशन फॉर रिवेन्यू एडमिनिस्ट्रेशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने अब होम पेज खुल जायेगा।
  • आपके सामने लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

mp-fasal-girdawari-report

  • इसके पश्चात आपके सामने लॉगिन फॉर्म खुल जायेगा।
  • आपको इस फॉर्म में अपना यूजरनेम पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • आप अब लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करेंगे।
  • इस प्रकार से आप लॉगिन कर पाएंगे।
डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया
  • आवेदक को सबसे पहले स्मार्ट एप्लीकेशन फॉर रिवेन्यू एडमिनिस्ट्रेशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके पश्चात आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • इस होम पेज पर आपको फसल गिरदावरी के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • आपको अब डेशबोर्ड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

mp-fasal-girdawri-report

  • आपके सामने अब एक नया पेज खुल जायेगा।
  • इस नए पेज पर आप डैशबोर्ड से संबंधित जानकारी देख सकते है।
सारा ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया
  • आवेदक को सबसे पहले अपने मोबाइल फ़ोन के गूगल प्ले स्टोर पर जाना होगा।
  • इसके पश्चात आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक सूचि खुल कर आ जाएगी।
  • अब आपको सारा ऐप के अंतर्गत दिए इंस्टॉल के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप सारा एप के विकल्प पर क्लिक करेंगे यह एप्प आपके मोबाइल फ़ोन में डाउनलोड हो जायेगा।

Leave a Comment