प्राण वायु देवता योजना 2023: आवेदन फार्म | लाभ एवं पात्रता जाने

Pran Vayu Devta Yojana Kya Hai | प्राण वायु देवता योजना आवेदन फार्म | Pran Vayu Devta Scheme Form Pdf Download, लाभ एवं पात्रता जाने

जैसे के हम सभ जानते है पेड़ो का अधिक होना हम सभी के लिए बेहद ज़रूरी है क्योंकि अधिक पेड़ होने के वजह से ऑक्सीजन की मात्रा ज़्यादा रहेगी। पर वातावरण भी स्वच्छ रहेगा। ऐसे में हरियाणा सरकार द्वारा राज्य में पेड़ो की कटान को रोकने एवं उनकी सुरक्षा करने के लिए प्राण वायु देवता योजना को शुरू किया गया है जिसके ज़रिये से नागरिको को प्रोत्साहित किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से राज्य में पुराने पेड़ों के संरक्षण के लिए सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाती हैराज्य के जो नागरिक इस योजना के माध्यम से लाभ प्राप्त करना चाहता है वह इस लेख को आखिर तक अवश्य पढ़े। क्योंकि इस लेख में उपलब्ध Haryana Pran Vayu Devta Scheme से सम्बन्धी महत्पूर्ण जानकारी आपके बहुत लाभकारी साबित होने वाली है जो आपको इस योजना का लाभ उठाने में सहयता उपलब्ध करेगी।

Pran Vayu Devta Yojana 2023

Pran Vayu Devta Yojana 2023

हरियाणा राज्य में पेड़ की कटाई पर रोकथाम लगाने एवं पेड़ो के संरक्षण के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा प्राण वायु देवता योजना को शुरू किया है जिसके ज़रिये 70 साल या ज़्यादा उम्र के पेड़ों की देखभाल करने वाले नागरिक को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है जिसके अंतर्गत राज्य के छोटे किसान एवं मजदुर को जोड़ा जाता है जिससे वह पेड़ो की देखभाल करने के साथ कुछ पैसे भी कमा सके। इस योजना के माध्यम से 75वर्ष या अधिक आयु के पेड़ों की देखभाल के लिए 2500 रुपए की आर्थिक सहायता प्रतिमाह प्रदान की जाती है ताकि पेड़ की देखभाल के साथ नागरिक रोजगार प्राप्त कर सके।

Haryana Kaushal Rojgar Nigam

Pran Vayu Devta Yojana तहत पेड़ों की कटाई पर रोकथाम लगेगी, साथ ही ज्यादा से ज्यादा लोग पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित होंगे। जिससे राज्य में चारों तरफ हरियाली होगी। जिससे वातावरण स्वच्छ साफ़ रहेगा।

Overview Of Pran Vayu Devta Yojana

योजना का नामप्राण वायु देवता योजना
आरंभ की गईमुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के द्वारा
लाभार्थीराज्य के नागरिक
उद्देश्यपेड़ों की रक्षा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना
लाभ2500 रुपए
राज्यहरियाणा
साल2022
आवेदन प्रक्रियाऑफलाइन

हरियाणा प्राण वायु देवता योजना का उद्देश्य क्या है

राज्य सरकार द्वारा प्राण वायु देवता योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य 70 साल या ज़्यादा उम्र के पेड़ों की देखभाल करने वाले नागरिक को आर्थिक सहायता प्रदान करना है जिसके अंतर्गत राज्य के छोटे किसान एवं मजदुर को जोड़ा जाता है जिससे वह पेड़ो की देखभाल करने के साथ कुछ पैसे भी कमा सके। इस योजना के माध्यम से 75वर्ष या अधिक आयु के पेड़ों की देखभाल के लिए 2500 रुपए की आर्थिक सहायता प्रतिमाह प्रदान की जाती है |

Haryana Parivar Pehchan Patra

ताकि पेड़ की देखभाल के साथ नागरिक रोजगार प्राप्त कर सके। Pran Vayu Devta Yojana तहत पेड़ों की कटाई पर रोकथाम लगेगी, साथ ही ज्यादा से ज्यादा लोग पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित होंगे। जिससे राज्य में चारों तरफ हरियाली होगी। जिससे वातावरण स्वच्छ साफ़ रहेगा। और बीमारियां उत्पन नहीं होगी।

हरियाणा प्राण वायु देवता योजना की मुख्य विशेषताएं जाने

  • राज्य में पेड़ो की कटान को रोकने एवं सुरक्षा करने के लिए आर्थिक सहयता प्रदान की जाएगी। 
  • राज्य में पर्यावरण को सुरक्षा प्रदान करना।
  • बेरोजगार नागरिको को रोजगार प्रदान करना है।
  • इस योजना के संचालन से राज्य में वायु में सुधार उत्पन होगा।
  • राज्य के किसानो की आय में वृद्धि करना है।

प्राण वायु देवता योजना हरियाणा के तहत करनाल में ऑक्सी वैन

  • तपो वन (ध्यान का वन)
  • अंतरिक्ष वन (राशि चक्र का वन)
  • आरोग्य वन (उपचार/हर्बल वन)
  • पंचवटी (पांच पेड़)
  • स्मरण वन (यादों का जंगल)
  • चित वन (सौंदर्य का वन)
  • पाखी वन (पक्षियों का जंगल)
  • नीर वन (झरनो का जंगल)
  • ऋषि वन (सप्त ऋषि)
  • सुगन स्वास/सुगंध वन (सुगंध का वन)

प्राण वायु देवता योजना के लाभ क्या-क्या है

  • राज्य के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा प्राण वायु देवता योजना को शुरू किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से जो पेड़ 70 साल या फिर इससे अधिक उम्र के है उनकी देख भल के लिए आर्थिक मदद प्रदान की जाएगी।
  • राज्य के छोटे किसान और गरीब श्रमिक को जोड़ा जाता है जिससे वह पेड़ों की देखभाल करके पर्यावरण संरक्षण में योगदान दे सके और पैसे भी कमा सके।
  • Pran Vayu Devta Yojana के माध्यम से 75 वर्ष या अधिक आयु के पेड़ों की देखभाल के लिए 2500 रुपए की आर्थिक सहायता प्रतिमाह प्रदान की जाती है।
  • इस योजना के ज़रिये प्रदान की जाने वाली आर्थिक सहयता सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर की जाती है।
  • इस योजना की तहत पेड़ों की कटाई पर रोकथाम लगेगी, साथ ही ज्यादा से ज्यादा लोग पेड़ लगाने के लिए प्रोत्साहित होंगे।
  • यह योजना राज्य में रोजगार के अवसर में बढ़ोतरी करेगी।
  • राज्य में चारों तरफ हरियाली होगी जिससे वातावरण स्वच्छ साफ़ रहेगा।

प्राण वायु देवता योजना हरियाणा के लिए योग्यता

  • आवेदक को हरियाणा का स्थाई निवासी होना ज़रूरी है।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी जरूरी है।
  • राज्य का कोई भी नागरिक इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए योग्य है।

आवेदन के लिए ज़रूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र 
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर

हरियाणा प्राण वायु देवता स्कीम के तहत आवेदन प्रक्रिया

  • आपको पहले अपने नज़दीकी वन विभाग कार्यालय में जाना है।
  • इसके बाद आपको वहा से इस योजना के तहत आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  • इसके बाद आपको पत्र में मालूम की गयी जानकारी को दर्ज करना होगा।
  • अब आपको आवेदन पत्र के साथ सभी ज़रूरी दस्तावेज़ भी जोड़ने होंगे।
  • अब आपको आखिर में यह पत्र उसी कार्यालय में जमा करना है जहां से आपने प्राप्त किया है।
  • इस तरह से आप आसानी से इस योजना के तहत ऑफलाइन आवेदन कर सकते है।
  • इसके बाद संबंधित अधिकारी के द्वारा आपके दस्तावेजों की जांच की जाएगी।
  • फिर इसके बाद में आपको योजना का लाभ दिया जाएगा।

Leave a Comment