(Parali Scheme) हरियाणा पराली योजना 2022 | Parali Registration Form

हरियाणा पराली प्रोत्साहन योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन | Haryana Parali Registration Incentive Scheme | हरियाणा सरकार पराली प्रोत्साहन योजना की जानकारी

जैसे की हम सब जानते है की दिल्ली जैसे शहर में वायु प्रदूषण कितना अधिक है यह हम सब जानते है किसानो के द्वारा धान की खेती करके जो पराली बचती है तो उसको किसान अपने खेतो में जला देते है तो इसी कारण वहां पर वायु प्रदूषण बढ़ता है। हरयाणा सरकार के द्वारा ऐसी ही एक योजना को शुरु किया गया है। जिसका नाम हरियाणा पराली प्रोत्साहन योजना 2022 है। जिसको किसान सरकार को बेच सकते है। हरयाणा सरकार का कहना है की राज्य में वायु प्रदूषण कम से कम हो सके इसलिए हरयाणा सरकार के द्वारा विभिन प्रकार की योजनाओ को शुरु किया जाता है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसानो मेरी फसल मेरा ब्यौरा के अंतर्गत आवेदन करना होगा। आपको हम अपने इस लेख के माध्यम से इस योजना से जुडी सभी जानकारी प्रदान करने जा रहे है। अतः आपसे निवेदन है की आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

haryana-parali-scheme

स्टबल बर्निंग को रोकने के लिए हरियाणा पराली प्रोत्साहन योजना

Haryana Parali Incentive Scheme to Curb Stubble Burning – पराली जलना हालि के दिनों में प्रदूषण का एक मुख्य कारण यह भी बन गया है। पंजाब एवं हरयाणा के कई किसान अगले सीजन की खेती करने के लिए और अपने खेत को त्यार करने के लिए पराली को जलाया  करते है। पराली जलने से निकलने वाले धुए से प्रदूषक तत्व होते है और यह निकटम राज्य दिल्ली एनसीआर में तेज़ी से फ़ैल रहा है। दिल्ली का एनसीटी वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) के हानिकारक स्तरों के कारण यह गैस चैम्बर की तरह है।

पराली को जलाने से राष्ट्रीय राजधानी में पीएम ने 2.5 और पीएम 10 का स्तर खतरनाक स्तर से बहुत परे है। SC ने पहले के दो राज्यों में पराली को जलने पर प्रतिबंद लगा दिया गया है।  ऐसा इसलिए करा गया क्योकि हरयाणा और पंजाब दोनों राज्यों में किसान गरीब है। इन सब के लिए हमारी सरकार को कोई ढोस क़दम उठाने होंगे।

Haryana Parali Scheme Highlights
नामहरियाणा पराली योजना
कहाँ लांच हुईहरियाणा
किसने शुरू कीमुख्यमंत्री मनोहर लाल
कब लांच हुईअक्टूबर 2021
विभागकृषि एवं कल्याण विभाग
लाभ1000 रूपए प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशी
हेल्पलाइन नंबरनहीं है
हरयाणा सरकार पराली प्रोत्साहन योजना की जानकारी।

Haryana Sarkar Parali Incentive Scheme पराली मशीन की कीमत सस्ती नहीं है क्योकि यह केंद्र सरकार से सब्सिडी मिलने के बाद भी इसकी कीमत लकभग पंद्रह लाख प्रतिग्राम है। पराली मशीन का किराया देश के किसानो के लिए बहुत ही अधिक है। जिसे किसान वहन नहीं कर पाते है। इन सब के लिए दिल्ली में प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए ,सुप्रीम कोर्ट ने  पंजाब और हरियाणा राज्य सरकार को किसानो को प्रोत्साहन देने का आदेश दिया है।

सुप्रीम कोर्ट के अनुसार हरियाणा सरकार ने पराली प्रोत्साहन योजना को शुरू करने का फैसला लिया है। राज्य सरकार छोटे एवं सीमांत किसानो को 100 रुपये प्रति क्विंटल प्रदान करेगी। जिन किसानो ने पराली नहीं जलाया है। पंजाब हरयाणा उत्तर प्रदेश और दिल्ली एनसीआर में फसलों के उनके अवशेषो के स्तान पर निपटने के प्रोत्साहन दिया जा रहा है।

पराली बेचने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन
  • आवेदक को सबसे पहले प्रमाण पत्र प्राप्त हो जाने के बाद सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • किसान को पराली की गांठ के उचित निष्पादन के लिए पंजीकरण करवाना होगा।
  • कुल धान का रकबा, प्रबंधन रखवा और खाता नंबर आदि की जानकारी प्रदान करनी होगी।
  • किसानो के द्वारा दी गई जानकारी को ग्राम पंचयता के द्वारा सत्यापन किया जायेगा।
  • जिला स्तरीय कमेटी के सत्यापन के बाद प्रोत्साहन राशि किसानों के बैंक खाते में आ जाएगी।

Leave a Comment