झारखण्ड गोधन न्याय योजना 2022 : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, विशेषता व लाभ

झारखण्ड गोधन न्याय योजना 2022 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और Jharkhand Godhan Nyay Yojana Application Form विशेषता, लाभ व लाभार्थी सूची देखे

देश के पशुपालकों को पशुपालन उद्योग करते रहने करने एवं उनकी आय में वृद्धि करने के लिए सरकार द्वारा समय-समय पर अनेक प्रकार की योजनाएं संचालित की जाती रहती है। ताकि देश के पशुपालन व्यापार को विकसित किया जा सके। आज हम आपको झारखंड सरकार द्वारा पशुपालकों के हित में नियोजित की गई एक ऐसी ही योजना के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसका नाम झारखंड गोधन न्याय योजना है। इस योजना के तहत पशुपालकों से उचित मूल्य पर गोबर खरीदा जाएगा। अगर आप भी एक पशुपालक है और झारखंड राज्य के निवासी हैं तो हमारे इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें। क्योंकि हम आपको अपने इस यह लेख के माध्यम से Jharkhand Godhan Nyay Yojana से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण बातें जैसे कि इस योजना के उद्देश्य, लाभ एवं विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज एवं आवेदन प्रक्रिया आदि से अवगत कराने जा रहा है। झारखंड फसल राहत योजना से सम्बंधित जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे।

Jharkhand Godhan Nyay Yojana 2022

वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट की घोषणा करते दौरान झारखंड सरकार द्वारा गोधन न्याय योजना को शुरू करने का फैसला लिया गया है। इस योजना के तहत आने वाले वित्तीय वर्ष में राज्य के पशुपालकों एवं शिक्षकों की आय में बढ़ोतरी करने के लिए उचित मूल्य पर उनसे गोबर खरीदा जाएगा। इस गोबर का उपयोग करके बायोगैस बनाने के साथ-साथ जैविक खाद तैयार करने का कार्य भी किया जाएगा। प्रदेश सरकार द्वारा Jharkhand Godhan Nyay Yojana 2022 को शुरू करने के फैसले से राज्य के पशुपालक की आय में बढ़ोतरी होगी। जिसके परिणाम स्वरुप उनकी जीवन स्तर में सुधार आएगा और वह भविष्य के लिए आत्मनिर्भर बन सकेंगे। झारखंड मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना से सम्बंधित जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे।

Godhan Nyay Yojana

बजट घोषणा के दौरान सरकार द्वारा कृषि एवं संबंधित क्षेत्र के लिए 4091.37 करोड़ रुपए का बजट प्रस्तावित किया गया है। इसके अलावा 40000 पशुपालकों को वित्तीय वर्ष 2022-23 में अनुदान पर पशुधन वितरण का लक्ष्य भी निर्धारित किया गया है और साथ ही राज्य में 85 लाख लीटर दूध प्रतिदिन उत्पादन का लक्ष्य भी निर्धारित किया है। यह योजना राज्य में पशु पालन उद्योग को बढ़ावा देने में बहुत ही कारगर साबित होगी।

पशुपालकों से प्राप्त हुए गोबर से बनाई जाएगी Biogas तथा जैविक खेती

झारखंड के पशुपालको का विकास करने के लिए एवं उनकी आय में वृद्धि करने के लिए झारखंड सरकार के द्वारा Godhan Nyay Yojana को लांच किया गया है। सरकार के द्वारा इस योजना का प्रस्ताव वित्त वर्ष 2022-23 के budget में किया गया था। प्रदेश के किसानो से उचित मूल्य पर गोबर की खरीद की जाएगी। किसानो से ख़रीदे गए गोबर से सरकार द्वारा biogas बनाई जाएगी। जैविक खाद बनाई जाएगी। Biogas के माध्यम से स्वच्छ ऊर्जा के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जायेगा। उसी के साथ जैविक खाद के उत्पादन से खेती को बढ़ावा दिया जायेगा। झारखण्ड विवाह प्रमाण पत्र डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करे।

झारखंड गोधन न्याय योजना का उद्देश्य

इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य झारखंड के पशुपालकों की आय में बढ़ोतरी करके उनके जीवन स्तर में सुधार लाना है। सरकार द्वारा Jharkhand Godhan Nyay Yojana के तहत पशुपालकों से उचित मूल्य पर गोबर खरीदा जाएगा। इस गोबर का उपयोग करके बायोगैस बनाई जाएगी। साथ ही जैविक खाद भी बनाया जाएगा। इस योजना से प्रोत्साहित होकर राज्य के अन्य नागरिक भी पशुपालन उद्योग की ओर आकर्षित होंगे। जिसके परिणाम स्वरूप राज्य का पशुपालन उद्योग विकसित होगा और पशुपालक भविष्य के लिए आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन सकेंगे।

 Key Highlights Of Jharkhand Godhan Nyay Yojana 2022
योजना का नामझारखंड गोधन न्याय योजना
शुरू की गईझारखंड सरकार द्वारा
लाभार्थीझारखंड के पशुपालक
उद्देश्यपशुपालकों की आय में बढ़ोतरी करना।
राज्यझारखंड
साल2022
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन एवं ऑफलाइन
अधिकारिक वेबसाइटजल्द ही लांच की जाएगी।
जल्द किया जाएगा योजना को लागू

झारखंड सरकार के द्वारा इस योजना को जल्द ही शुरु किया जायेगा जिससे राज्य के किसान आत्मनिर्भर बने एवं उनके जीवन स्तर सुधार आए | लकभग सरकार के द्वारा 40000 किसानों को पशुधन वितरण करने का लक्ष्य रखा गया है। इसी के साथ 85 lakh litre दूध प्रतिदिन उत्पादन करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। सरकार के द्वारा शुरु की गई यह योजना रोजगार के अवसर बढ़ाने में कारगर साबित होगी। झारखंड सरकार ने कृषि एवं संबंधित क्षेत्र के लिए 4901.37 crore रुपए का बजट पेश किया गया है। सरकार के द्वारा इस बजट में झारखंड गौधन न्याय योजना को शामिल किया गया है। इस योजना के अंतर्गत apply करने के लिए official website launch की जाएगी।

झारखंड गोधन न्याय योजना के लाभ एवं विशेषताएं
  • वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट घोषणा के दौरान झारखंड सरकार द्वारा गोधन न्याय योजना को शुरू करने का फैसला लिया गया है।
  • सरकार द्वारा इस योजना के तहत आने वाले वित्तीय वर्ष में पशुपालकों और किसानों से उचित मूल्य दर पर गोबर खरीदा जाएगा।
  • इस गोबर का उपयोग करके बायोगैस बनाए जाएंगी और जैविक खाद तैयार करने का कार्य भी किया जाएगा।
  • Jharkhand Godhan Nyay yojana के द्वारा राज्य के पशुपालकों की आय में वृद्धि होगी जिसके परिणाम स्वरुप उनके जीवन शैली में एक सकारात्मक परिवर्तन आएगा।
  • सरकार द्वारा कृषि एवं संबंधित क्षेत्र के लिए37 करोड़ रुपए का बजट प्रस्तावित किया गया है।
  • इसके अलावा 40000 पशुपालकों को वित्तीय वर्ष 2022-23 में अनुदान पर पशुधन वितरण का लक्ष्य भी निर्धारित किया गया है
  • झारखंड सरकार द्वारा राज्य में प्रतिदिन 85 लाख लीटर दूध उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • यह योजना राज्य में पशुपालन उद्योग विकसित करने में बहुत ही कारगर साबित होगी। जिसके परिणाम स्वरुप अन्य व्यक्ति भी पशुपालन उद्योग करने के लिए प्रेरित होंगे।
झारखंड गोधन न्याय योजना के तहत आवेदन हेतु पात्रता
  • आवेदनकर्ता को झारखंड का मूल निवासी होना अनिवार्य है।
  • आवेदक पशुपालक उद्योग से जुड़ा हो।
महत्वपूर्ण दस्तावेज
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
झारखंड गोधन न्याय योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

झारखंड सरकार के द्वारा अभी केवल झारखंड गोधन न्याय योजना को शुरु करने का फैसला लिया गया है। जल्द ही सरकार के द्वारा इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट लांच की जाएगी। सरकार के द्वारा इस योजना के अंतर्गत इस योजना से संबंधित कोई भी जानकारी प्रदान की जाती है तो आपको हम अपने इस लेख के माध्यम से आपको सूचित कर देंगे। आपसे निवेदन है की आप हमारे इस लेख को ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़े।

1 thought on “झारखण्ड गोधन न्याय योजना 2022 : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, विशेषता व लाभ”

Leave a Comment